Followers

Thursday, 1 June 2017

कतरने अखबारों की जो रह गई थी बताने से

आज के अख़बार में कुछ और भी अच्छी अच्छी खबर आई हुई थी बताने से रह गई। 

एक तो अपनी जीडीपी की ही थी। इकोनॉमिक्स पढ़ी है थोड़ी बहुत पर ज्यादा समझ नहीं आती जीडीपी वगैरह।  बाकी खबर बड़े ग़ज़ब तरीके से पेश की हुई थी अमर उजाला ने। फ्रंट पेज की खबर है। जीडीपी गिरी है हेडलाइन है 

"सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था से बाहर हुआ भारत। "

भारत सरकार ने  नोटबंदी न की होती तो अब तक तो हम चाँद पर पहुँच गए होते। "सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था " कहाँ से लेकर आया भाई ये टर्म। पहले बेस ईयर बढाकर झूठ का खेल रचा गया था। अब तो वो बताने की भी जरूरत नहीं है सबसे तेज जा रहे थे बस नोटबंदी में बेईमानो ने साथ नहीं दिया नहीं तो ग़ज़ब हो जाता।  कल को एक अख़बार ये भी लिख सकता है कि  हम इतनी तेजी से जा रहे थे कि रोकना जरुरी हो गया था इसलिए नोटबंदी की। 

एक और मजेदार खबर है तमिलनाडु सरकार ने पोस्टमैन की भर्ती के लिए ऑनलाइन टेस्ट लिया। उसमे तमिल का भी एक सेक्शन था जब रिजल्ट आया तो सब एक दूसरे का मुंह देख रहे थे। तमिल वाले सेक्शन में सबसे ज्यादा नंबर हरियाणा वासियो के थे। अब मामले की जाँच हो रही है। ये हरियाणा वाले भी डूबे तो कहाँ डूबे पोस्ट मैन पर वो भी तमिलनाडु में। वैसे उन्हें लगा होगा नौकरी लग जाए आजकल कौन चिट्टी भेजता है। पर इतनी मेहनत में तो वो एसएससी पास कर जाते। बाकी तमिल में सबसे ज्यादा नंबर आने कमाल ही बात की। 

आज का अख़बार ऐसी खबरों से भरा हुआ था तीस हजारी अदालत में एक और कमाल हुआ। अदालत चल रही थी जज सुनवाई सुन रहा था। सब ठीक चल रहा  घडी ने साढ़े ४ बजाए और स्टेनो ने जज को कहा अच्छा जी मेरी ड्यूटी ख़त्म होती है मैं जा रही हूँ। जज कहता रह गया कि कोर्ट का अपमान है रुक जाओ ऐसे मत जाओ। पर स्टेनो की एक ही जिद थी मेरी कैब आई हुई है। :D भास्कर में ही एक और खबर आई फरीदाबाद में जज ने वकील को पेपर वेट फेंक कर मारा। ये सब जोली फिल्म देख कर आये हुए क्या। 

अब एक और खबर सुनो हरियाणा सरकार ने आदर्श गाँव की योजना चलाई। विधायकों को कहा गाँव गोद ले और साल 17 -18 में बजट पता है क्या रखा ?  18 लाख रूपये यानी एक सूबे को बीस हजार रूपये। बीस हजार रूपये में आदर्श गाँव तैयार होंगे। जस्टिन बीबर की एक टिकट न मिले बीस हजार में।  

आखिर में दो घटनाये है जिन्हे एक साथ मिलकर पढ़ने की और समझने की जरूरत है। शायद हमें कुछ समझ आये। 

पहली घटना में एक युवक ने आत्महत्या कर ली। क्यूंकि उसकी पत्नी को उसके चरित्र पर शक था और उसकी पत्नी ने उस पर तलाक का केस डाला हुआ था। उसकी पत्नी उससे अलग होना चाहती थी। 

दूसरी घटना शायद नॉएडा की है। एक 20 -22 साल की लड़की को सरे राह गोली मार दी। नई नई जॉब लगी थी लड़की की। 

ऊपर वाली दोनों खबरों को कई बार पढियेगा। शायद कुछ समझ में आये। 

2 comments:

  1. आखिरी दो खबरों का कनेक्शन समझने के लिए कितनी बार पढ़ना पड़ेगा?

    ReplyDelete
    Replies
    1. जब तक समझ न आए

      Delete